Sunday, September 22, 2013

आत्म - निरीक्षण


मैं ही स्वयं  का रक्षक हूँ , 
मैं ही स्वयं का भक्षक भी।

मैं  ही कारक हूँ और मैं ही कर्त्ता भी,
मैं ही  निर्माता हूँ और मैं ही विध्वंसक भी।